लिंगायत अपना पूजा खुद करना है (खुद मरने तक खुदा नहीं मिलता)

लिंगायत तत्व दर्शन

लिंगायत धर्म एक-देवोपासन पालन करता है

लिंगायत धर्म में व्रत, शील (नियम) नेम

लिंगायत धर्म में सत्संग अवश्यक है

लिंगायत धर्म में हर रोज शुभ है

लिंगायत धर्म साहित्य 'आद्धशरणों के वचन पारस है'

लिंगायत धर्म साहित्य 'वचन साहित्य'

लिंगायत धर्मस्थापक, धर्मगुरु बसवण्ण

लिंगायत पंचसूतक नही मानता

लिंगायत ब्रह्मा, विष्णु, रुद्र को देव नही मानता

लिंगायत भविष्य, तिथि-वार को नही मानता

लिंगायत मे कायक समान्ता (Equality in Work)

लिंगायत मे भगवान का स्वरूप(Concept of GOD in Lingayat)

लिंगायत मे मानव समानता (Human Equality in Lingayat)

लिंगायत मे स्त्री पुरुष समानता (Gender Equality in Lingayat)

लिंगायत स्वर्ग, नरक को नही मानता

लिंगायत तत्व दर्शन

Previousशिवाचारदेव स्वरूप इष्टलिंग आकार मेNext