Previous मोळिगे मारय्या (1160) रायसद मंचण्णा (1160) Next

रायसद मंचण्णा की पत्नी रायम्मा (1160)

पूर्ण नाम: रायम्मा
वचनांकित : अमुगेश्वरलिंग

*

अखाड़े में लाठी चलाते हैं, युद्ध में लाठी चलाते हैं क्या?
भवि के लिए पुनः व्रत और पुनः दीक्षा की आवश्यकता है,
भक्त के लिए ये आवश्यक हैं क्या ?
व्रत भंग होने पर भी जीवित हो, उसे नरक से मुक्ति नहीं,
अमुगेश्वर लिंग। / 1340 [1]

रायम्मा बसवण्णा के निजी सचिव और वचनकार रायसद मंचण्णा की पत्नी थीं। व्रतनिष्ठा का प्रबोध देनेवाला इनका एक वचन उपलब्ध हैं। इनका वचनांकित है ‘अमुगेश्वरलिंग' | यह अमुगे रायम्मा का अंकित भी है।

References

[1] Vachana number in the book "VACHANA" (Edited in Kannada Dr. M. M. Kalaburgi), Hindi Version Translation by: Dr. T. G. Prabhashankar 'Premi' ISBN: 978-93-81457-03-0, 2012, Pub: Basava Samithi, Basava Bhavana Benguluru 560001.

सूची पर वापस

*
Previous मोळिगे मारय्या (1160) रायसद मंचण्णा (1160) Next
cheap jordans|wholesale air max|wholesale jordans|wholesale jewelry|wholesale jerseys